संदेश

2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नोट बंदी- ससंद बदी के बाद अब बजट व उत्तर प्रदेश में दाव पेच!

कानून बदला किन्तु लोग नहीं बदले!

संसद सेशन शोरगुल-हंगामे में बाईस दिन यूं ही बीत गया

एक महीना लाइन में कैसे बीत गया,पता ही नही चला...?

...और आडवाणी से भी रहा नहीं गया!

डिजिटल तो हम हो गये लेकिन चुनौतियां भी तो कम नहीं!

नन्हीं बच्चियों की चीख .... कानून कब तक यूं अंधा बहरा बना रहेगा?

जयललिता बीमार....मार्कंडे का प्यार जागा, लालू भी आये नये अंदाज में!

हमारी सेना बहादुर थी, बहादुर हैै और रहेगी.....कोई शक?

सब में मिलावट....लोग खाये तो क्या?और पिये तो क्या?

रेलवे में रिकार्ड अपराध.....और अब स्पर्म के लुटेरे भी!

अपराध की तपिश से क्यों झुलस रहा छत्तीसगढ़?

पैसठ हजार लोग 'काले से 'गोरे हो गये, बाकी कब?

सेना ने वादा निभाया-चुनी हुई जगह और समय पर जवाब दिया!

बिना खून खराबे के ही हमने अपने दुश्मन की रीढ़ तोड़ दी!

इंसान की ताकत- बहादुरी(?) के कारनामें इंसानों पर ही

थानों में पिटाई...यह तो होता आ रहा है!

फिर वही -ढाक के तीन पात! आखिर कब तक?

अब समय आ गया पाकिस्तान से फिर दो दो हाथ करने का!

एक देश,एक चुनाव: अब इसमें देरी किस बात की!

ं शिक्षा के मंदिर में बड़े पुजारी की तानाशाही...क्यों सिस्टम फैल है यहां?

आखिर सरकार को डिब्बा बंद सामान की याद तो आई!

इतना पैसा रखकर भी हम अपने खिलाडियों को क्यों नहीं सवार पाते?

मंहगाई के दौर में नई आशाओं के साथ आये उर्जित पटेल!

जनता के बीच के लोग...लेकिन जनता से कई आगे!

ओलंपिक खेलों में हमारी शर्मनाक स्थिति..साई कितना सही?