अब एक नया 'शिगूफा! 'एस्ट्रायड इस सप्ताह दुनिया को खत्म कर देगा?





हम और आप में से कई लोग वर्षो से सुनते आ रहे हैं कि दुनिया का अंत होने वाला है.सन् 1960 के दशक में तो यह खबर ऐसे उडी कि बहुत से लोग मरने के कथित निर्धारित दिन घर से बाहर निकलकर आ गये. ऐसा कुछ नहीं हुआ, उस दिन न प्रलय आया न जलजला आया और न ही कुछ अनहोनी हुई इसके बाद के दिनों में एक स्काई लैब के पृथ्वी टकराने की खबर ने खूब आंतकित किया. दूर क्यों जायेंं -21 दिसंबर 2012 में भी पृथ्वी पर भयंकर प्रलय की बात कही गई थी, तब प्राचीन माया सभ्यता के कैलेंडर (5,125 साल लंबा चक्र)के  खत्म होने का हवाला दिया गया था, इसपर हॉलीवुड में फिल्म भी बन चुकी है. इस बार बात एक एस्ट्रायड की है-कहा जा रहा है कि वर्ष 2015 में सितंबर महीने अर्थात आज 21 तारीख से शुरू होने वाले सप्ताह में फिर ऐसी स्थिति निर्मित होगी कि दुनिया से मानव सभ्यता का अंत हो जाएगा? क्या पृथ्वी तबाह होने वाली है? कॉन्सपिरेसी थ्योरी की माने तो वह कुछ इसी ओर इशारा कर रही है. डूम्सडे (प्रलय का दिन)थ्योरिस्ट्स के अनुसार  22 से 28 सितंबर के बीच पृथ्वी से एक विशालकाय चट्टान (एस्ट्रॉयड) टकराएगी, जिससे सबकुछ खत्म हो जाएगा. धर्मग्रंथों में भी दुनिया के अंत होने का जिक्र आया है.एक बार  हुए   प्रलय ने कुछ लोगों को छोड़कर मानव सभ्यता को ही खत्म कर दिया था- इस बार कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट्स ने तीन महीने पहले भविष्यवाणी की थी कि सितंबर में सब कुछ खत्म होने जा रहा है.खुद को पैगंबर बताने वाले रेव इफ्रैन रॉड्रीगुएज नामक एक शख्स ने सबसे पहले इस विनाशकारी प्रलय का दावा किया था.उसके मुताबिक, एस्ट्रॉयड प्यूर्टो रिको (कैरीबियाई समुद्र में एक द्वीप) के पास टकराएगा.इससे शक्तिशाली भूकंप आएगा और पृथ्वी तबाह हो जाएगी. कई बाइबिल थ्योरिस्ट्स ने भी इस घटना की बात की है लेकिन  वैज्ञानिक पूर्व की तरह इस चेतावनी को गंभीरता से नहीं लेते बल्कि इसे खारिज करते है उनके मुताबिक वर्तमान संकट का जो जिक्र एस्ट्रॉयड  के रूप में किया गया है वह पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करते ही जलकर भस्म हो जाता है फिर भी
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एस्ट्रॉयड्स का पता लगाने के मामले को हाई प्रायोरिटी में रखा है. नासा  ने इस कॉन्सपिरेसी थ्योरी पर कहा था,नासा को पता है कि कोई भी एस्ट्रॉयड इस वक्त धरती से टकराने वाला नहीं है। ऐसी घटनाओं की आशंका बहुत कम है किन्तु यह भी कहा कि आने वाले सैकड़ों सालों में धरती से कोई भी एस्ट्रॉयड टकराने नहीं जा रहा.


लोकप्रिय पोस्ट