मंगलवार, 31 अगस्त 2010

कलंकित क्रिकेट!

कलंकित क्रिकेट!
मंगलवार।दिनांक 31 अगस्त 2010पाक का एक और मुखौटा इस समय विश्व के सामने हैं। मैच फ़िक्सिंग कर पाक खिलाडियों ने न केवल अपना नाम खराब किया बल्कि अपने देश का भी मुंह काला कर दिया। अब तक जो तथ्य सामने आ रहे हैं वे यही बता रहे हैं कि सुरा-सुन्दरी में मस्त पाक क्रिकेट खिलाड़ी पैसा कमाने के लिये कुछ भी कर गुजरने के लिये तैयार रहते हैं। पाक क्रिकेटरों की इन हरकतों ने पाक आंतकवादियों को भी शर्मिंदा कर दिया है। वे अब इन क्रि केटरों की खून के प्यासे हो गये हैं। पाक क्रि केटर आसिफ की एक पूर्व प्रेमिका पाक अभिनेत्री वीना मलिक ने जो रहस्योद्घाटन किया है, उसमें क्रिकेटरों की पोल पूरी तरह खुल जाती है। आसिफ़ का भारतीय सट्टेबाज़ से संबन्ध और उससे पैसे लेने की बात के बाद अब पाक क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को इस खिलाड़ी के बारे में सोचने की जरूरत ही नहीं रह जाती है। उक्त महिला सारे प्रमाण भी देने के लिये तैयार बताई जा रही है। आसिफ़ ने पैसा कमाने और किसी से मुलाकात के लिये अचानक बैंकाक की यात्रा भी की थी। पाक का सारा खेल सेटिंग से रहा है। पाक की जनता जिन्हें सर आंखों पर लेकर चलती रही है। उनके कारनामों की पोल खुलने के बाद वे अब मुंह खोलने की स्थिति में नहीं हैं। किसी समय हम भी इस स्थिति से गुजर चुके हैं। जब हमारे भी कई खिलाड़ियों पर मैच फ़िक्सिंग का आरोप लगा था। इनमें से कुछ को इसकी सजा भी मिल चुकी हैं। शोहरत पाने के बाद इंसान किस कदर और पैसे की लालच करता है, यह मामला इसका जीता जागता उदाहरण है। आईसीसी अध्यक्ष शरद पवार संपूर्ण मामले पर नजर रखे हुए हैं। पाक क्रिकेट बोर्ड की रिपोर्ट आने के बाद अगले पन्द्रह दिनों में यह तय होगा कि इन खिलाड़ियों पर क्या कार्रवाई की जाये। फिलहाल जो स्थिति है, वह इस रहस्योद्धाटन के बाद उत्तेजना और नाराज़गी की है। जो ख़बरें आ रही है वह यह दर्शा रही है कि पूरी टीम की स्थिति मैच फ़िक्सिंग मामले में संदिग्ध है। खिलाड़ियों ने सटोरिये से पैसा खाया है। यह बताने के लिये इतना ही काफी है कि उनके कमरे से इतना सारा पैसा बरामद हुआ है, जो उनके आचरण को अपने आप ही बयां करता है। पुलिस रिपोर्ट के बाद आईसीसी क्या कदम उठाये गी इस पर सभी की निगाह है, लेकिन क्रिकेट जगत के दिग्गजों की तरफ से बराबर यह मांग उठ रही है कि पूरी टीम को निलंबित किया जा ये तथा खिलाड़ियों के खेलने पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जा ये। इस बीच एक भारतीय फोटोग्राफर के इस बयान ने पूरे मामले में आग में घी का काम किया है कि पाक- इंग्लैड के दो वनडे मैच भी फ़िक्स हैं। आतंकवाद से ग्रसित पाक खिलाड़ियों के इस कारनामे और आतंकवादी धमकी के आगे ब्रिटिश सरकार को इनकी सुरक्षा का इंतज़ाम भी एक गंभीर समस्या है। कई खिलाड़ियों को अपने वतन लौटने के बाद भी दिक्कतें का सामना करना पड़ सकता है। क्रिकेट में जो लोग अब तक विकेट लेते और बा लिंग करते रहे हैं। उन्हें शायद अब जनता की गेंदों का सामना करना पड़ सकता है।